Devki Jaye Gokul Bane Yashoda Dular Aarti – Swami Gyananand Ji Maharaj


Devki Jaye Gokul Bane Yashoda Dular aarti .

Aarti Credits : –

Devki Jaye Gokul Bane Yashoda Dular

Devki Jaye Gokul Bane Yashoda Dular Aarti – Swami Gyananand Ji Maharaj

देवकी जाये गोकुल बने यशोदा दुलार
आरती उतारे तेरी कृष्ण मुरार
स्रष्टि के झुलैया झूले यशोदा के पालना
जगत के पिता बने नन्द जू के लालना
कैसे है कन्हैया खायी यशोदा की मार
आरती उतारे तेरी कृष्ण मुरार…………

माटी खायी मुखमें माँ को स्रष्टि दिखाई
नन्द के ग्वाले बने,गयिया भी चराई
ग्वालो में ग्वाले बने स्रष्टि के सार
आरती उतारे तेरी कृष्ण मुरार…………

करे मटकी भी फोरी दही भी चुराए है
गोपिकाए आई तूने मुरली भी बजाई
छाछ पे नाचे प्रभु भक्तों का प्यार
आरती उतारे तेरी कृष्ण मुरार…………

भौएँ टेडी मुरली टेडी,टेडी तेरी चाल है
माखन चोर कनाहेया घुंघर वाले बाल है
मुरली है निराली तेरी आदि ओंकार
आरती उतारे तेरी कृष्ण मुरार…………

राधा आयी रास रचाई मारी पिचकारी है
रंग दे चुनरिया वो कान्हा की दुआरी है
करुणामयी सरकार पे मै जाऊ बलिहार
आरती उतारे तेरी कृष्ण मुरार………..

Most Viewed Bhajans :


Like it? Share with your friends!

120

Comments 0

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Devki Jaye Gokul Bane Yashoda Dular Aarti – Swami Gyananand Ji Maharaj

log in

reset password

Back to
log in